Live News
Track your constituency


राजनीतिक परिदृश्य
भारतीय आम चुनाव 2014 में, भारतीय जनता पार्टी की जीत ने भारतीय राजनीति को एक नया आयाम प्रदान किया। इसके बाद पार्टी का विजय रथ नहीं रुका और पार्टी ने कई राज्य चुनावों में जीत हासिल की। 2019 में जब एक बार फिर से नरेंद्र मोदी का चेहरा जनता के सामने आया तो भारतीय जनता पार्टी पहले से कहीं ज्यादा मजबूत हो गई।

राजनीति के वर्तमान परिदृश्य को देखकर यह पता चलता है कि सरकार चुनने के मामले में लोगों के निर्णय काफी समझदारी-भरे हो गए हैं। 2017 के चुनावों से पता चलता है कि भारतीय मतदाता केंद्र और राज्य की राजनीति के बीच अंतर करने में काफी हद तक सक्षम हैं। 2014 के बाद से जब से भारतीय जनता पार्टी सत्ता में आई है ऐसी मोदी लहर चल रही है कि राज्य चुनावों में तो पार्टी की बल्ले-बल्ले हो गई। विपक्षी पार्टी अपने राजनैतिक कैरियर में सबसे निम्न स्तर पर आ गई। इसके बाद विपक्ष ने, खासतौर पर कांग्रेस ने ऐसा पलटवार किया कि भारतीय जनता पार्टी को कई राज्य चुनावों में हार का सामना करना पड़ा। लेकिन केंद्र में नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार को दोबारा चुने जाने के बाद से मतदाताओं ने एक बार फिर विपक्षी पार्टियों को चौंका दिया है। पिछले लोकसभा चुनाव से अधिक सीटें जीतकर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्रीय स्तर पर सबसे शक्तिशाली नेता के रूप में उभर कर सामने आए हैं।

Trending POLITICIANS
Political PARTIES

News and UPDATES



Types of Elections in India
Following are the major types of election in the country:
  • Elections to Lok Sabha
  • Elections to Rajya Sabha
  • Elections to State Assemblies
  • Elections to Legislative Council
  • Elections to the posts of President,Vice-President
  • Elections to Local Bodies
  • Municipal Corporation
  • Gram Panchayat Elections
  • Zila Panchayat Elections
  • Block Panchayat Elections



चुनाव परिणाम इतिहास

1951 के बाद से हर 5 वर्ष के बाद भारत में चुनावों का आयोजन किया जा रहा है। आजादी के बाद से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस को कई बार चुनाव में सफलता मिली। कांग्रेस के बाद बीजेपी एकमात्र ऐसी पार्टी है जिसने 2 बार देश पर शासन किया। प्रधानमंत्री का चयन लोकसभा चुनाव के बाद किया जाता है।More...

विधानसभा चुनाव परिणाम

लोकसभा चुनाव की तरह, विधानसभा चुनाव भी हर 5 साल में आयोजित होते हैं। जीतने वाली पार्टियां या तो अकेले या गठबंधन में सरकार बनाती हैं और राज्य के लिए मुख्यमंत्री चुनती हैं।
More...

लोकसभा चुनाव परिणाम

वर्तमान 17 वीं लोकसभा का गठन 2019 के आम चुनावों के बाद किया गया था। भाजपा एक सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी और नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने।
More...


भारत में चुनाव



भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है और भारत का चुनाव सबसे बड़ी चुनावी गतिविधि। हर भारतीय हर 5 वर्ष के बाद आम चुनावों व लोकसभा चुनावों में हिस्सा लेकर सीधे प्रधानमंत्री का चयन करता है।

भारत ने विधायिका की द्विसदनीय प्रणाली को अपनाया है, संसद एक निचले सदन (लोकसभा) और उच्च सदन (राज्य सभा) से बना है। भारत की संघीय सरकार केंद्र और राज्य सरकारों के बीच अधिकार को अलग करती है। भारतीय संसद के 2 सदन हैं : पहला लोकसभा और दूसरा राज्यसभा। लोकसभा: लोकसभा के सदस्य देश के प्रधानमंत्री का चयन करते हैं। इसे निचले सदन के रूप में भी जाना जाता है और इसमें कुल 552 सदस्य शामिल होते हैं। राज्यों से, 530 सदस्य चुने जाते हैं, जबकि लोकसभा में 20 सदस्य संघ शासित प्रदेशों का प्रतिनिधित्व करते हैं। लोकसभा के सदस्य (सांसद) का चयन हर 5 साल में होता है।


राज्यसभा: राज्यसभा संसद का ऊपरी सदन है। राज्य सभा की कुल संख्या 245 सदस्य है और प्रत्येक सदस्य का कार्यकाल 6 वर्ष है। राज्य सभा संसद में राज्यों के प्रतिनिधित्व के लिए होती है और राज्यसभा सांसदों का चुनाव संबंधित राज्य विधानसभाओं / संघ शासित प्रदेशों के निर्वाचक मंडल के सदस्यों द्वारा किया जाता है। राज्य सभा के ⅓ सदस्य हर 2 साल में सेवानिवृत्त हो जाते हैं।

भारतीय चुनाव आयोग, जो चुनाव का संचालन करता है, सबसे बड़ा और सबसे शक्तिशाली निकाय है। यह चुनाव प्रक्रिया के लिए इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का इस्तेमाल करता है। 17 वीं लोकसभा के चुनाव 11 अप्रैल से 19 मई 2019 के बीच अनुसूचीबद्ध किए गए थे। भाजपा 303 सीटें जीतने वाली सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है और 2014 के बाद नरेंद्र मोदी एक बार फिर प्रधानमंत्री बने हैं।


Lok Sabha Elections in India



 प्रथमदूसरातीसरा
वर्षचुनावकुल सीटेंपार्टीसीटें% मतपार्टीसीटें% मतपार्टीसीटें% मत
201917 वीं लोकसभा545भारतीय जनता पार्टी30337.76कांग्रेस5219.698सर्वभारतीय तृणमूल कांग्रेस224.11
201416 वीं लोकसभा545भारतीय जनता पार्टी28231.34%कांग्रेस4419.52%अन्नाद्रमुक373.31%
200915 वीं लोकसभा545कांग्रेस20628.55%भारतीय जनता पार्टी11618.80%समाजवादी पार्टी233.23%
200414 वीं लोकसभा543कांग्रेस14526.53%भारतीय जनता पार्टी13822.16%भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी435.66%
199913 वीं लोकसभा545भारतीय जनता पार्टी18223.75%कांग्रेस11428.30%भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी335.40%
199812 वीं लोकसभा545भारतीय जनता पार्टी18225.59%कांग्रेस14125.82%भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी325.16%
199611 वीं लोकसभा543भारतीय जनता पार्टी16120.29%कांग्रेस14028.80%जनता दल4623.45%
199110 वीं लोकसभा521कांग्रेस23236.26%भारतीय जनता पार्टी12020.11%जनता दल5911.84%
19899 वीं लोकसभा529कांग्रेस19739.53%जनता दल14317.79%भारतीय जनता पार्टी8511.36%
19848 वीं लोकसभा514कांग्रेस40449.01%तेदेपा304.31%भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी225.87%
19807 वीं लोकसभा529 (542 *)भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस35142.69%जेएनपी (एस)419.39%भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी376.24%
19776 वीं लोकसभा542जेपी33041.32%कांग्रेस15434.52%भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी224.29%
19715 वीं लोकसभा518कांग्रेस35243.68%भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी255.12%भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी234.73%
19674 वीं लोकसभा520कांग्रेस28340.78%एसडब्ल्यूए448.67%बीजस359.31%
1962तीसरी लोकसभा494कांग्रेस36144.72%भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी299.94%एसडब्ल्यूए187.89%
1957दूसरी लोकसभा494कांग्रेस37147.78%भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी278.92%पीएसपी1910.41%
1951-1952पहली लोकसभा489कांग्रेस36444.99%भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी163.29%एसओसी1210.59%

मताधिकार

एक व्यक्ति, जो वयस्क हो जाता है, को भारतीय संविधान के अनुच्छेद 326 के अनुसार मतदान करने का अधिकार प्राप्त है। वयस्क मताधिकार के आधार पर, भारत में एक वयस्क चुनाव आयोग द्वारा निर्धारित अन्य पात्रता शर्तों को पूरा करने पर मतदान प्रक्रिया में भाग ले सकता है। इससे पहले मतदाता बनने के लिए कम से कम उम्र 21 वर्ष थी लेकिन 1989 में इसे घटाकर 18 वर्ष कर दिया गया है। जो व्यक्ति भारत का नागरिक नहीं है या कानून में गड़बड़ी करने के लिए मतदान करने से रोक दिया गया है वह मतदान प्रक्रिया में भाग नहीं ले सकता है। एक बार एक नागरिक, जिसे एक मतदाता के रूप में नामांकन करना होता है, के लिए एक मतदाता पहचान पत्र भारतीय चुनाव आयोग द्वारा जारी किया जाता है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के साथ, भारतीय चुनाव आयोग द्वारा किसी मतदाता के लिए एक और सेवा उपलब्ध कराई गई है जिसे नोटा (उपरोक्त में से कोई नहीं) कहते हैं, जिसका मतलब यह है कि मतदाता किसी के लिए अपने मत का प्रयोग नहीं कर रहा या फिर कोई भी उम्मीदवार निर्वाचित होने का हकदार नहीं है।

भारत में चुनाव प्रक्रिया

एक चुनाव के लिए संघीय मॉडल के किसी भी स्तर पर, भारत के परिसीमन आयोग द्वारा क्षेत्रों को कुछ 'भागों' में विभाजित किया गया है। क्षेत्र के इन हिस्सों को लोकसभा / राज्यसभा / राज्य विधानसभाओं के लिए 'निर्वाचन क्षेत्र' कहा जाता है। जबकि नगर निगमों के मामले में इन भागों को 'वार्ड' कहा जाता है। इस क्षेत्र के लोगों द्वारा एक प्रतिनिधि चुना जाता है। किसी व्यक्ति को, मतदान करने के लिए, मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज कराना चाहिए। कई उम्मीदवार, जो या तो एक राजनीतिक पार्टी या एक स्वतंत्र उम्मीदवार से हो सकते हैं, चुनाव में भाग लेते हैं। नामांकन दाखिल करने के बाद एक उम्मीदवार को चुनाव आयोग से मंजूरी लेनी होती है। चुनाव के लिए उम्मीदवार चुनाव प्रचार करते हैं और चुनाव से 48 घंटे पहले चुनाव प्रचार बंद हो जाता है। पूरी प्रक्रिया को भारतीय चुनाव आयोग द्वारा प्रशासित किया जाता है और निर्धारित तारीखों पर चुनाव परिणामों की घोषणा की जाती है।

भारत में राजनीतिक पार्टियाँ

भारत ने बहुदलीय राजनीतिक प्रणाली को अपनाया है। एक राजनीतिक पार्टी का गठन राजनेताओं द्वारा उनकी विचारधारा के आधार पर और राजनीतिक लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए किया जाता है। मापदंड पूरा करने पर चुनाव आयोग किसी पार्टी को 'राष्ट्रीय' या 'राज्य' का दर्जा देता है। भारत में आठ राष्ट्रीय पार्टियाँ हैं। भारत में पार्टियाँ - अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस (एआईडीएमके), बहुजन समाज पार्टी (बसपा), भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी (सीपीआईएम), भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (आईएनसी), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी), नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी)। भारत में 53 राज्य पार्टियाँ और 2538 गैर-मान्यता प्राप्त पार्टियाँ हैं। राज्य की कुछ लोकप्रिय पार्टियों में शिवसेना (एसएस), आम आदमी पार्टी (आप), जनता दल-यूनाइटेड (जेडीयू), जनता दल-सेक्युलर (जेडीयू), समाजवादी पार्टी (सपा), आदि शामिल हैं। कांग्रेस सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी है जबकि भारतीय जनता पार्टी भारत की सबसे बड़ी पार्टी है।


भारत में विधानसभा चुनाव


 प्रथमदूसरातीसरा
राज्यगत चुनाव का आयोजनपरिणाम दिनांककुल विधानसभाजीती पार्टियाँसीटें% मतजीती पार्टियाँसीटें% मतजीती पार्टियाँसीटें% मत
दिल्ली202011-Feb-2070आप6253.8भारतीय जनता पार्टी838.7---
आंध्र प्रदेश201923-May-19175युवजन श्रमिक रायथू कांग्रेस पार्टी15150.6तेदेपा2339.7जनता पार्टी15.6
अरुणाचल प्रदेश201923-May-1960भारतीय जनता पार्टी4151.3जेडी (यू)710एनपीईपी514.7
हरियाणा201924-Oct-1990भारतीय जनता पार्टी4036.7कांग्रेस3128.2जेजेपी1014.9
झारखंड201923-Dec-1981झारखंड मुक्ति मोर्चा)3019भारतीय जनता पार्टी2533.8कांग्रेस1614.1
महाराष्ट्र201924-Oct-19288भारतीय जनता पार्टी10526.1एसएचएस5616.6राकांपा5416.9
ओडिशा201923-May-19147बीजद11245.2भारतीय जनता पार्टी2332.8कांग्रेस916.3
सिक्किम201923-May-1932सिक्किम क्रान्तिकारी मोर्चा1747.4एसडीएफ1548---
छत्तीसगढ़201811-Dec-1890कांग्रेस6843.9भारतीय जनता पार्टी1533.6जेसीसी (जे)57.8
कर्नाटक201812-May-18224भारतीय जनता पार्टी10436.2कांग्रेस8039जेडी (एस)3718.3
मध्य प्रदेश201811-Dec-18230कांग्रेस11441.5भारतीय जनता पार्टी10941.6बसपा25.1
मेघालय20183-Mar-1860कांग्रेस2128.8एनपीईपी 1920.8यूडीपी611.7
मिजोरम20189-Dec-1840एमएनएफ2637.8कांग्रेस530.3भारतीय जनता पार्टी18.1
नगालैंड20183-Mar-1860नागा पीपल्स फ्रंट2739.1एनडीडीपी1725.4भारतीय जनता पार्टी1215.4
राजस्थान201811-Dec-18200कांग्रेस9939.8भारतीय जनता पार्टी7339.3बसपा64
तेलंगाना201811-Dec-18119तेलंगाना राष्ट्र समिति8847.4कांग्रेस1928.7ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन 72.7
त्रिपुरा20183-Mar-1860भारतीय जनता पार्टी3543.4सीपीआई (एम)1643.2आईपीएफटी 87.5
गोवा201711-Mar-1740कांग्रेस1728.7भारतीय जनता पार्टी1332.9एमएजी311.4
गुजरात201718-Dec-17182भारतीय जनता पार्टी9950कांग्रेस7742.2बीटेपी20.8
हिमाचल प्रदेश201718-Dec-1768भारतीय जनता पार्टी4449.2कांग्रेस2142.1सीपीआई (एम)11.5

RELATED INFORMATION




TAMIL NADU KERALA KARNATAKA ANDHRA PRADESH TELANGANA CHHATTISGARH ORISSA WEST BENGAL JHARKHAND BIHAR SIKKIM ARUNACHAL PRADESH MEGHALAYA TRIPURA MIZORAM MANIPUR NAGALAND GOA MAHARASHTRA GUJARAT MADHYA PRADESH UTTAR PRADESH RAJASTHAN HARYANA DELHI UTTARAKHAND PUNJAB HIMACHAL PRADESH JAMMU AND KASHMIR LADAKH ASSAM